कौन…..???

कौन बुलाएगा अब मुझे कही भी कभी भी। कौन रुठेगा अब मुझसे कही भी कभी भी। उस चाह उस उम्मीद और उस प्यार से। किसे होगी चाहत की खा लेते कुछ मेरे हाथ का इतना प्यार से। कौन डरेगा अब मुझसे कौन करेगा मेरी इतनी ईज्जत। बिना मेरे मार के। किसका हूँ मैं अब जो […]

​Dedicated to someone special.

करुण वेदना मेरी ये तुझको वंदित हो, राधा जैसे कृष्ण से मिलन को वंचित हो। मैंने खो दिया तुम्हे अपनी स्वार्थी भावनाओ से, तुमने भुला दिया मुझे समाज की दलीलों से, लोगो की अफवाहों से। हर वक़्त तुझसे अब मैं छमा का प्राथी हूँ, सुर के बिना संगीत के अधूरी कला सी हूँ। सहयोग को […]

ये कैसा रिश्ता??? part-18

इंतजार की घडी समाप्त हो गई है आपके समक्ष प्रस्तुत है ये कैसा रिश्ता part – 18   राहुल की आँखे भींग जाती हैं, एक हाथ मे फोन और दूसरे हाथ में खुला हुआ मार्कर लिए क्लास से भागता हुआ निकलकर वह कुछ दूर तक सड़को पर दौड़ पड़ता है। फिर उसे याद आता है […]

A short film on your story…

क्या आप अपनी कहानी को किसी फिल्म के रूप में देखना चाहते हैं? तो आपके पास है एक सुनहरा मौका। जी हां! आप अपनी कहानी हमे भेेजें। टॉप 3 कहानियों पर हम बनाएंगे फिल्म। Type your story and send now on praj36233@gmail.com Word limit 500 words Last date – 17th Feb 2017 Fore more details […]

ये कैसा रिश्ता??? part-17

राहुल अपने मोबाइल पर आये हुए मैसेज को ओपेन कर देखता है। स्वेता ने लिखा था कि माँ बोल रही है कि आप से ज्यादा घुलने मिलने की जरुरत नही है, यँहा गांव के और भी लोग रहते है जो नही जानते कि वो तुम्हारा रिश्तेदार है या क्या है इसलिए राहुल के साथ कहीं […]

ये कैसा रिश्ता??? part-16

नमस्कार मै सत्यम जयसवाल एक बार फिर से आपके बिच अगले भाग के साथ मौजूद हूँ। आप सारे wordpress परिवार को हिंदी साहित्य के ओर से प्रणाम करते हुए अगले भाग की ओर प्रस्थान करता हूँ। परन्तु इस से पहले आप लोगों से कुछ कहना चाहूंगा। आपकी प्रतिक्रियाओं की अहमियत बताना चाहता हूँ, किसी भी […]

याद!

​मुझे याद है मेरी माँ, जो मेरे आँखों में जरा सा आंसू नही देख सकती। जिसका कलेजा फट जाता है जब कभी मुझे तकलीफ होती है। मुझे याद हैं मेरे पापा, जो अपनी खुशियों की बलि दे कर मेरे लिए खुशियां बटोरते रहते हैं। मुझे याद हैं मेरे 85 साल के दादा जी जो मेरे […]

ये कैसा रिश्ता??? part-15

परंतु फिर भी दोनों किसी तरह एक दिन एक साथ शहर जाने की तैयारी कर लेते हैं। दोनों के घरवालों को कोई सक ना हो इस वजह से राहुल अपने घर से बस से निकलता है और स्वेता ट्रेन से। राहुल आगे एक स्टेशन पर जा कर बस से उतर जाता है। स्वेता से फ़ोन […]